एक सप्ताह से गायब छह साल की लडक़ी को कोई सुराग नही

गायब छह साल की लडक़ी को कोई सुराग नही पीडि़त पक्ष ने गांव कुंजपुरा में लगाया जाम, जाम के बाद हरकत में आई पुलिस

विकास सुखीजा
करनाल 16 अप्रैल। गांव कुंजपुरा में लडक़ी देखने के गए एक परिवार की छह
साल की बेटी संदिगध परिस्थितियों में गायब हो गई है। लडक़ी को गायब हुए
लगभग एक सप्ताह हो गया है, लेकिन पुलिस इस मामले में लडक़ी की न तो तलाश
करने में कामयाब हो पाई है और न ही इस मामले में शक की बिनाह पर काबू किए
गए आरोपी से कुछ पता लगा पाई है। पीडि़त परिवार का पुलिस पर आरोप है कि
पुलिस ने आरोपी को पुछताछ के बाद छोड़ दिया है। आज इस मामले में एक बार
फिर पीडि़त परिवार अपने काफी रिश्तेदारोंं को साथ लेकर कुंजपुरा थाने
पहुंचा, लेकिन जब पुलिस से उन्हें संतोष जनक जवाब नही मिला तो उन्होंने
गांव कुंजपुरा में जाम लगा दिया। जिस के बाद डीएसपी ने मौके पर पहुंच कर
जाम खुलावा और तुरंत इस केस को कुंजपुरा थाने से बदल कर सीआईए-वन में भेज
दिया है। हालांकि थाना कुंजपुरा के प्रभारी इन्सपैक्टर राजकुमार रंगा का
कहना है कि पुलिस ने लडक़ी की खोजबीन के लिए बहुत प्रयास किया, लेकिन अभी
तक कोई सुराग नही लग पाया है। इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी देते हुए
रामनगर निवासी एंव लडक़ी के मामा राजेंद्र कुमार ने बताया कि उनके जीजा
जवाहर लाल अपने परिवार के साथ विगत 8 अप्रैल 2018 को गांव कुंजपुरा में
लडक़ी देखने के लिए गया था। इस दौरान जब ये लोग सभी औपचारिकताएं पूरी कर
वापिस आने लगे तो उन्होंने देखा कि उनकी छह साल की बेटी गायब हो गई है।
उन्होंने इस दौरान अपनी बेटी आस-पास के क्षेत्र में जमकर तलाशा, लेकिन
उसका कोई सुराग नही लग पाया। जिस के बाद उन्होंने इस मामले की सूचना
कुंजपुरा थाना पुलिस को दे दी और इस दौरान उन्होंने एक व्यक्ति पर शक
करते हुए उसका नाम भी पुलिस को बताया। जिस के बाद पुलिस उसे थाने में
लेकर आ गई। आरोप है कि पुलिस ने उस व्यक्ति को कुछ ही देर बाद छोड़ दिया।
उन्होंने बताया कि आज लडक़ी गायब हुए लगभग आठ दिन पूरे हो गए है, लेकिन
लडक़ी को कोई सुराग नही लग पाया है और न ही पुलिस ने इस मामले में कुछ
किया। जिस के परेशान हो कर आज इन लोगों ने गांव कुंजपुरा में कुछ देर के
लिए जाम लगा दिया। जिस की सूचना मिलते ही मौके पर इलाके के डीएसपी पहुंच
गए और उन्होंने आशवासन दिया कि इस मामले की जांच अब सीआईए-वन से कराई
जाएगी, जिस के बाद पीडि़त पक्ष ने जाम खो दिया। परिवार के लोगों का कहना
है कि जब उनकी बेटी गायब हुई तब से उनका बुरा हाल है और वो उसकी तलाश में
मारे-मारे फिर रहे है, लेकिन उन्हें अभी तक कोई सुराग नही लग पाया है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

यूपीएससी का सरकार को प्रस्ताव, आवेदन को ही माना जाए पहला प्रयास

संघ लोकसेवा आयोग (यूपीएससी) ने सरकार को प्रस्ताव दिया है कि सिविल सेवा परीक्षा के ...