ममता ने भाजपा पर साधा निशाना कहा- राजनीतिक फायदे के लिये CBI का दुरुपयोग कर रही है


कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को भाजपा पर सीबीआई का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि भाजपा अपने राजनीतिक फायदे के लिये बार-बार सीबीआई का दुरुपयोग कर रही है और उसे सरकार की हां में हां मिलाने वाली एजेंसी बना दिया गया है।
ममता ने यह बयान बृहस्पतिवार को उच्च अधिकार प्राप्त समिति द्वारा अलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद से हटाए जाने के संदर्भ में दिया है। तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने कहा, भाजपा सीबीआई और आरबीआई (रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया) जैसे संस्थानों को बर्बाद कर रही है। अलोक वर्मा ने दमकल सेवा, नागरिक सुरक्षा एवं गृह रक्षा का महानिदेशक बनने से इनकार करते हुए शुक्रवार को नौकरी से इस्तीफा दे दिया।
CBI के पूर्व निदेशक आलोक वर्मा का सेवा से इस्तीफा, कहा – यह ‘सामूहिक आत्ममंथन’ का क्षण
केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के पूर्व निदेशक आलोक वर्मा ने शुक्रवार को सेवा से इस्तीफा दे दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली एक उच्चाधिकार प्राप्त समिति ने गुरूवार को उन्हें सीबीआई निदेशक के पद से हटा दिया था। वर्मा ने अपने त्याग-पत्र में कहा कि यह “सामूहिक आत्ममंथन” का क्षण है।
कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) के सचिव को भेजे गए अपने इस्तीफे में वर्मा ने कहा, “यह भी गौर किया जाए कि अधोहस्ताक्षरी (नीचे दस्तखत करने वाला) 31 जुलाई 2017 को ही सेवानिवृत हो चुका था और 31 जनवरी 2019 तक सीबीआई के निदेशक के तौर पर अपनी सेवा दे रहा था, क्योंकि यह तय कार्यकाल वाली भूमिका होती है। अधोहस्ताक्षरी अब सीबीआई निदेशक नहीं है और महानिदेशक दमकल सेवा, नागरिक सुरक्षा एवं गृह रक्षा के पद के लिहाज से पहले ही सेवानिवृति की उम्र पार कर चुका है। अत: अधोहस्ताक्षरी को आज से सेवानिवृत समझा जाए।
भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के 1979 बैच के अरुणाचल प्रदेश, गोवा, मिजोरम एवं केंद्रशासित प्रदेश (एजीएमयूटी) कैडर के अधिकारी वर्मा का तबादला कल महानिदेशक दमकल सेवा, नागरिक सुरक्षा एवं गृह रक्षा के पद पर कर दिया गया था। सीबीआई निदेशक के पद पर वर्मा का दो वर्षों का कार्यकाल आगामी 31 जनवरी को पूरा होने वाला था। लेकिन इससे 21 दिन पहले ही प्रधानमंत्री मोदी, लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति ए के सीकरी की समिति ने 2-1 के बहुमत से वर्मा को सीबीआई प्रमुख के पद से हटाने का फैसला किया। मोदी और न्यायमूर्ति सीकरी वर्मा को सीबीआई निदेशक पद से हटाने के पक्ष में थे जबकि खड़गे ने इसका विरोध किया।
..

(साभार :  एजेन्सी / संवाददाता  / अन्य न्यूज़ पोर्टल )

ताजा खबरों के अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें| आप हमें ट्वीटर पर भी फॉलो कर सकते हैं|

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

चुनाव में राम मंदिर नहीं, विकास मुद्दा होना चाहिए : चिराग पासवान

लोक जनशक्ति पार्टी (लाजपा) के सांसद चिराग पासवान ने एकबार फिर राम मंदिर को चुनावी ...